https://www.xxzza1.com
Saturday, March 2, 2024
Home राजनीति तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने कहा- राज्य में CAA लागू करने...

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने कहा- राज्य में CAA लागू करने की अनुमति नहीं देंगे

इंडिया टुमारो

नई दिल्ली | तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने कहा है कि तमिलनाडु सरकार कभी भी राज्य में नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (सीएए) लागू नहीं करेगी क्योंकि यह क़ानून मुसलमानों और श्रीलंकाई तमिलों के विरुद्ध है.

मुख्यमंत्री स्टालिन ने केंद्रीय राज्य मंत्री शांतनु ठाकुर के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, “मैं आश्वासन देता हूं कि हम तमिलनाडु में नागरिकता (संशोधन) अधिनियम को पैर नहीं रखने देंगे.”

स्टालिन ने कहा, “2021 में जैसे ही हम सत्ता में आए, हमने सीएए को वापस लेने की मांग करते हुए विधानसभा में एक प्रस्ताव पारित किया था.”

ज्ञात हो कि केंद्रीय राज्य मंत्री शांतनु ठाकुर ने बीते दिनों यह बयान दिया था कि एक सप्ताह में सीएए पश्चिम बंगाल में और साथ ही पूरे देश में लागू किया जाएगा.

मुख्यमंत्री स्टालिन ने राज्यसभा में इस विधेयक का समर्थन करने के लिए भाजपा की तत्कालीन सहयोगी अन्नाद्रमुक की भी आलोचना की.

स्टालिन ने भाजपा पर देश में धार्मिक सद्भाव के खिलाफ काम करने का आरोप लगाया और इसका समर्थन करने के लिए अन्नाद्रमुक पर भी हमला बोला.

इस समय स्पेन गए स्टालिन ने बात करते हुए कहा कि जब वे विपक्ष में थे तो उनकी पार्टी द्रमुक (डीएमके) ने तमिलनाडु में सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था.

उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पार्टी डीएमके ने इसके खिलाफ राज्यभर से दो करोड़ हस्ताक्षर भी एकत्र किए थे और इसे भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति को भेजा था और क़ानून को लेकर विरोध भी जताया था.

ज्ञात हो कि 29 जनवरी को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि भाजपा हमेशा किसी भी चुनाव से पहले सीएए का मुद्दा उठाती है. उन्होंने कहा कि तृणमूल ने एनआरसी के खिलाफ लड़ाई लड़ी.

ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि भाजपा ने वोट के लिए फिर से ‘सीएए-सीएए’ चिल्लाना शुरू कर दिया है. उन्होंने भाजपा मंत्री के इस बयान की निंदा की.

सीएए क़ानून पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में उत्पीड़न का शिकार रह चुके उन गैर-मुस्लिम प्रवासियों (हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी, ईसाई) को भारतीय नागरिकता प्रदान करता है, जो 31 दिसंबर 2014 तक भारत आए थे.

इस कानून को लेकर देशभर में विरोध प्रदर्शन हुए थे और जानकारों ने इसे मुस्लिम विरोधी बताया था. क़ानून के जानकारों और बुद्द्जीवियों ने CAA को असंवैधानिक और मुस्लिम विरोधी बताते रहे हैं.

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

यूपी में विधायकों के क्रास वोटिंग से भाजपा 8वीं राज्यसभा सीट जीती, सपा को मिली 2 सीट

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो लखनऊ | उत्तर प्रदेश में 10 सीटों के लिए हुए राज्यसभा चुनाव में विधायकों...
- Advertisement -

पिछले तीन वर्षों में गुजरात में 25,478 लोगों ने की आत्महत्या, इनमें लगभग 500 छात्र: राज्य सरकार

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | भाजपा शासित राज्य गुजरात में तीन वर्षों में 25,000 से अधिक आत्महत्या के मामले...

सुप्रीम कोर्ट ने पतंजलि दवा के विज्ञापनों पर लगाया प्रतिबंध, बाबा रामदेव को अदालत की अवमानना का नोटिस

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को एक अंतरिम आदेश पारित कर पतंजलि आयुर्वेद की दवाओं...

राजस्थान: धर्मांतरण के आरोप में निलंबित मुस्लिम शिक्षकों की बहाली के लिए छात्रों का प्रदर्शन, SDM को दिया ज्ञापन

-रहीम ख़ान जयपुर | राजस्थान के कोटा ज़िले में धर्मांतरण के आरोप में दो मुस्लिम शिक्षकों को निलंबित कर...

Related News

यूपी में विधायकों के क्रास वोटिंग से भाजपा 8वीं राज्यसभा सीट जीती, सपा को मिली 2 सीट

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो लखनऊ | उत्तर प्रदेश में 10 सीटों के लिए हुए राज्यसभा चुनाव में विधायकों...

पिछले तीन वर्षों में गुजरात में 25,478 लोगों ने की आत्महत्या, इनमें लगभग 500 छात्र: राज्य सरकार

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | भाजपा शासित राज्य गुजरात में तीन वर्षों में 25,000 से अधिक आत्महत्या के मामले...

सुप्रीम कोर्ट ने पतंजलि दवा के विज्ञापनों पर लगाया प्रतिबंध, बाबा रामदेव को अदालत की अवमानना का नोटिस

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को एक अंतरिम आदेश पारित कर पतंजलि आयुर्वेद की दवाओं...

राजस्थान: धर्मांतरण के आरोप में निलंबित मुस्लिम शिक्षकों की बहाली के लिए छात्रों का प्रदर्शन, SDM को दिया ज्ञापन

-रहीम ख़ान जयपुर | राजस्थान के कोटा ज़िले में धर्मांतरण के आरोप में दो मुस्लिम शिक्षकों को निलंबित कर...

“फ़िलिस्तीनी आवाम फ़िलिस्तीन की भूमि पर ही जीने और मरने के लिए दृढ़ है”: फ़िलिस्तीनी राजदूत

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | भारत में फिलिस्तीन के राजदूत अदनान अबू अल-हैजा ने इज़राइल पर फिलिस्तीनियों को उनकी...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here