Sunday, December 5, 2021
Home पॉलिटिक्स बनारस की 'किसान न्याय यात्रा' में प्रियंका गांधी ने कहा, "यूपी में...

बनारस की ‘किसान न्याय यात्रा’ में प्रियंका गांधी ने कहा, “यूपी में न्याय की उम्मीद नहीं है”

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो

वाराणसी | यूपी में किसी को न्याय की उम्मीद नहीं है। यह बात कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने आज बनारस के जगतपुर इंटर कॉलेज के मैदान पर किसान न्याय यात्रा की ऐतिहासिक रैली में कही।

उन्होंने कहा कि, “लखीमपुर खीरी में मंत्री के बेटे ने 6 किसानों को कुचल दिया। लखीमपुर खीरी का प्रशासन दोषियों को बचा रहा था। हमें रोंकने की कोशिश की गई और हमें सीतापुर में अरेस्ट कर रखा गया। मंत्री का बेटा दोषी और अपराधी है, उसको पकड़ा नहीं गया। पुलिस निमंत्रण दे रही है कि आईये और बात कीजिए। दुनिया में कहीं भी ऐसा नहीं हुआ है। मुख्यमंत्री लखीमपुर खीरी के दोषी को बचा रहे हैं।”

बनारस में कांग्रेस की किसान न्याय यात्रा की ऐतिहासिक लाखों लोगों की उमड़ी भीड़ को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि, “चाहे मार डालो या जेल में डालो, लेकिन हम रुकने वाले नहीं हैं। यूपी को बदलने के लिए बिना रुके लड़ते रहेंगे। हम यूपी को बदलने के लिए चल पड़े हैं और यूपी को बदल कर ही रहेंगे।”

उन्होंने कहा कि, “कांग्रेस का कार्यकर्ता डरने वाला नहीं है और न ही डरेगा। कांग्रेस का कार्यकर्ता यूपी सरकार के हर गलत काम का डटकर मुकाबला करेगा। कांग्रेस जनता के लिए सरकार से टकराने से पीछे नहीं हटेगी।”

किसान न्याय यात्रा में जुटी भारी भिडसे कांग्रेस काफी उत्साहित हैं और अन्य विपक्षी पार्टियों की मुश्किलें बढ़ी हैं.

प्रियंका गांधी ने कहा कि, “आज हम जिस आजादी का अमृत उत्सव मना रहे हैं, यह आजादी किसने दी थी ?आजादी किसानों ने दी थी। तभी हम आज यह उत्सव मना रहे हैं। किसान के बेटे ने सीमा पर देश को सींचा और देश के अंदर किसानों ने देश को अन्न दिया। यह देश एक आस्था है और एक उम्मीद है। इसलिए न्याय की उम्मीद पर ही इस देश को आजादी मिली है।”

प्रियंका ने आगे कहा, “जब महात्मा गांधी आज़ादी की लड़ाई लड़े, तो उनके दिल में यह ख्याल था कि मेरी जनता को मेरे देश में, मेरे किसानों को मेरे देश में, मेरे देश की महिलाओं को मेरे देश में न्याय मिलना चाहिए।”

रैली में जुटी हुई भीड़ को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने लखीमपुर खीरी की घटना का बार- बार उल्लेख किया और किसानों को याद करके उनका सच्चा हितैषी होने का अहसास कराया।

उन्होंने कहा कि, “मैं लखीमपुर खीरी के पीड़ितों के परिवार से मिली हूं। सभी के घर वालों ने यही कहा है कि हमें न्याय चाहिए। लेकिन सरकार से न्याय की उम्मीद नहीं है, क्योंकि हत्यारों को बचाया जा रहा है।”

प्रियंका गांधी ने कहा कि, “देश के किसानों ने 9-10 महीनों से एक आंदोलन चला रखा है। इस आंदोलन में 600 से ज्यादा किसान शहीद हो गए हैं। यह किसान आंदोलन इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि यह जानते हैं कि सरकार के द्वारा बनाये गए तीन काले कानूनों से उनके खेत, उनकी आमदनी और उनकी फसल सब उद्योगपतियों के हाथ में जाने वाली है।”

उन्होंने कहा कि, “आंदोलन करने वाले किसानों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आंदोलन जीवी कह रहे हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा है कि उत्तर प्रदेश आओगे, तो सुधार देंगे। यह भाषा क्या शोभा देती है? प्रधानमंत्री जी देश-देश घूम रहे हैं। लेकिन उनको किसानों से मिलने की फुर्सत नहीं है। प्रधानमंत्री अपने घर से मात्र 10 किलोमीटर दूर दिल्ली के बॉर्डर तक किसानों से मिलने नहीं जा सकते हैं। मोदी सरकार और योगी सरकार किसान विरोधी है।भाजपा का चेहरा किसान विरोधी है। भाजपा नहीं चाहती है कि किसान तरक्की करें और खुशहाल रहें। कांग्रेस किसानों और आम जनता की लड़ाई के लिए हमेशा सरकार से लड़ने का काम करेगी और जनहित के मुद्दे पर सरकार की कमियों को उजागर करने से पीछे नहीं हटेगी।”

बनारस में हुई कांग्रेस किसान न्याय यात्रा रैली की सबसे खास बात यह रही कि इस रैली में लाखों लोगों की भीड़ जुटी। भीड़ का आलम यह रहा कि रैली चलती रही और इसके बावजूद लोग रैली में आते रहे। लखीमपुर खीरी की घटना के बाद कांग्रेस की इस रैली ने कांग्रेस को संजीवनी बूटी मिल गई है।

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्ष में सपा के कारण कांग्रेस की स्थिति बहुत ही कमजोर हो गई थी।लेकिन प्रियंका गांधी के यूपी की कमान संभालने और लखीमपुर खीरी की घटना में प्रियंका गांधी की मजबूत भूमिका ने कांग्रेस को संजीवनी बूटी मिल गई है। आज कांग्रेस एकाएक मज़बूत होकर उभरी है। कांग्रेस की भूमिका से ही राज्य में कांग्रेस के प्रति लोगों का झुकाव बढ़ा है। इसका असर आज बनारस की कांग्रेस की किसान न्याय यात्रा रैली में देखने को साफ तौर पर मिला है।

कोई माने या न माने, लेकिन यही सच्चाई है। यूपी के लोगों को अब यह भरोसा हो गया है कि कांग्रेस योगी आदित्यनाथ की सरकार का मज़बूत विकल्प हो सकती है, यही सब कारण हैं कि आज बनारस की कांग्रेस की रैली में लाखों लोगों की भीड़ जुटी और रैली में आए हुए लोगों ने प्रियंका गांधी को बड़े धैर्य के साथ सुना। प्रियंका गांधी की आज की रैली राज्य की राजनीति में उथल – पुथल मचाएगी।

प्रियंका गांधी ने आज बनारस पहुंच कर सबसे पहले काशी विश्वनाथ मंदिर जाकर बाबा विश्वनाथ की पूजा अर्चना की और उनका आशीर्वाद प्राप्त किया। इसके बाद उन्होंने दुर्गा कुंड जाकर मां कुष्मांडा के मंदिर में मत्था टेका और पूजा अर्चना किया। इसके बाद वह रैली स्थल पर पहुंची। रैली स्थल पर कांग्रेस के नेताओं ने उनका स्वागत किया।

प्रियंका गांधी के साथ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, पंजाब के सीएम चरण जीत सिंह चन्नी, दीपेंद्र हुड्डा, सलमान खुर्शीद थे। रैली में मंच पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और विधानसभा में कांग्रेस विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा ने प्रियंका गांधी का स्वागत किया।

रैली में बनारस के पूर्व सांसद राजेश मिश्रा, पूर्व विधायक अजय राय, प्रमोद तिवारी, इमरान प्रतापगढ़ी, एम एल सी दीपक सिंह सहित सैकड़ों कांग्रेस के नेता मौजूद रहे।

प्रियंका गांधी ने एक- एक कर सबका नाम लेकर संबोधित किया। रैली में जुटी भीड़ से प्रियंका गांधी बहुत खुश नज़र आईं। बनारस की आज की कांग्रेस की रैली से यूपी की राजनीति में बड़े परिवर्तन के संकेत दिए हैं।

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

CAA त्रुटिपूर्ण, यह संविधान के सिद्धांतों के विरुद्ध है: न्यायामूर्ति ए.के. गांगुली (सेवानिवृत्त)

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) एके गांगुली ने कहा है कि 2019 में भाजपा सरकार द्वारा पारित...
- Advertisement -

गुरुग्राम: कट्टरपंथियों द्वारा “जय श्री राम” के नारों के बीच मुसलमानों ने अदा की जुमे की नमाज़

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | भारत की संसद से मात्र 30 किलोमीटर दूर स्थित गुरुग्राम में शुक्रवार को...

राजस्थान: मुसलमानों द्वारा शपथ पत्र देने के बाद भी अधिकारी नहीं बना रहे अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के अजमेर, भीलवाड़ा, पाली और राजसमंद समेत अन्य जिलों में चीता,...

क्या ASI कुतुब मीनार परिसर का संरक्षण कर रहा या इसकी मूल संरचना को नष्ट कर रहा?

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | दिल्ली में स्थित ऐतिहासिक स्मारक कुतुब मीनार को लेकर दक्षिणपंथी समूहों द्वारा पैदा...

Related News

CAA त्रुटिपूर्ण, यह संविधान के सिद्धांतों के विरुद्ध है: न्यायामूर्ति ए.के. गांगुली (सेवानिवृत्त)

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) एके गांगुली ने कहा है कि 2019 में भाजपा सरकार द्वारा पारित...

गुरुग्राम: कट्टरपंथियों द्वारा “जय श्री राम” के नारों के बीच मुसलमानों ने अदा की जुमे की नमाज़

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | भारत की संसद से मात्र 30 किलोमीटर दूर स्थित गुरुग्राम में शुक्रवार को...

राजस्थान: मुसलमानों द्वारा शपथ पत्र देने के बाद भी अधिकारी नहीं बना रहे अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के अजमेर, भीलवाड़ा, पाली और राजसमंद समेत अन्य जिलों में चीता,...

क्या ASI कुतुब मीनार परिसर का संरक्षण कर रहा या इसकी मूल संरचना को नष्ट कर रहा?

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | दिल्ली में स्थित ऐतिहासिक स्मारक कुतुब मीनार को लेकर दक्षिणपंथी समूहों द्वारा पैदा...

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर में एक ब्राह्मण परिवार पलायन को मजबूर

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो लखनऊ | यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर में अपराधियों की...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here