https://www.xxzza1.com
Saturday, April 13, 2024
Home महिला रायबरेली में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार महिला ने पुलिस अधीक्षक के दफ्तर...

रायबरेली में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार महिला ने पुलिस अधीक्षक के दफ्तर में पिया ज़हर

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो

लखनऊ | रायबरेली में पुलिस अधीक्षक के दफ्तर में एक दुष्कर्म पीड़ित महिला के ज़हर पीने का सनसनीख़ेज़ मामला सामने आया है. दुष्कर्म पीड़िता ने इसलिए ज़हर पिया क्योंकि उसके द्वारा तहरीर देने के बावजूद आरोपियों के खिलाफ पुलिस एफआईआर नहीं दर्ज कर रही थी.

हालांकि, बाद में पीड़िता की ओर से मिली तहरीर पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए उसे गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है.

यह मामला रायबरेली के लालगंज कोतवाली के एक गांव की रेप पीड़िता का है जो बीते गुरूवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर एक युवक व दो अज्ञात के खिलाफ रेप का आरोप लगाते हुए शिकायती पत्र दिया था.

रिपोर्ट के अनुसार, पीड़िता ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में ही ज़हरीला पदार्थ खाकर खुदकुशी करने का प्रयास किया था. गंभीर हालत में पीड़िता को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

एसपी के निर्देश पर लालगंज कोतवाली में खीरों थाना क्षेत्र के रहने वाले रेप के आरोपी श्यामू सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए उसे गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है.

महिला के मुताबिक वर्ष 2017 में उसके साथ घटित घटना है. एक स्टूडियो संचालक ने महिला का निजी वीडियो और उसकी फोटो खींच ली थी. बाद में स्टूडियो संचालक उसे प्रताड़ित करने लगा. फोटो वायरल करने की धमकी देकर उसको ब्लैकमेल करने लगा. इस दौरान स्टूडियो संचालक और उसके साथ दो अज्ञात लोगों ने उससे दुष्कर्म किया.

दुष्कर्म पीड़िता ने आरोप लगाया कि स्टूडियो संचालक ने उससे 60 हज़ार रुपये ले लिया. उसके ससुराल से 5 लाख रुपये के जेवर भी उठा लाए. पीड़िता का आरोप है कि उसने खीरों के महारानीगंज स्थित अपने स्टूडियो में बुलाकर दो साथियों के साथ मिलकर उसके साथ दुष्कर्म किया.

आरोपियों के डर की वजह से पीड़िता 12 जनवरी 2024 को अपनी ससुराल चली गई. ससुराल में उसने अपने पति को उक्त घटना की जानकारी दी. उसके यौन शोषण की जानकारी होने पर उसको उसके पति ने घर से निकाल दिया.

इस पर उक्त महिला ने 2 फरवरी को घटना की तहरीर लालगंज कोतवाली में दी. लालगंज में कोतवाली पुलिस ने 3 बार उसको बुलाया, किंतु एफआईआर नहीं दर्ज की. लालगंज पुलिस केवल उसको टालती और टहलाती रही. इससे परेशान होकर दुष्कर्म पीड़िता महिला 22 फरवरी 2024 को पुलिस अधीक्षक दफ्तर पहुंची और उसने जहरीला कीटनाशक पी लिया.

महिला द्वारा जहरीला कीटनाशक पीते ही पुलिस अधीक्षक दफ्तर में अफरातफरी मच गई. पुलिस ने तुरंत उसको जिला हॉस्पिटल पहुंचाया. जिला हॉस्पिटल में उसका इलाज हुआ, तो उसकी जान बचाई जा सकी.

जिला हॉस्पिटल में इमरजेंसी में तैनात डाक्टर डी पी सरोज ने बताया, “संबंधित महिला ने कीटनाशक जहर पी लिया था, इससे उसकी हालत बिगड़ गयी थी. लेकिन समय पर हॉस्पिटल पहुंच जाने पर और उसका इलाज होने पर उसका जीवन बच गया.”

हालांकि, नाजुक मामला होने पर उसको जिला हॉस्पिटल से उसको रायबरेली स्थित एम्स में भर्ती करा दिया गया है.

दुष्कर्म पीड़ित महिला के द्वारा पुलिस अधीक्षक के दफ्तर में कीटनाशक ज़हर पीने के बाद अब पुलिस अपने को बचाने और अपने को पाक- साफ साबित करने में जुट गई है.

जो लालगंज कोतवाली पुलिस दुष्कर्म पीड़िता महिला की एफआईआर नहीं दर्ज कर रही थी, उसी पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर लिया है और स्टूडियो संचालक समेत 3 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया और गिरफ्तार कर लिया गया.

मुख्य आरोपी स्टूडियो संचालक को गिरफ्तार भी कर लिया है. लालगंज कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर शिवशंकर सिंह अब अपने को पाक -साफ और अपनी कुर्सी बचाने के लिए खुद को सही साबित करने पर तुले हुए हैं.

शिवशंकर सिंह कहते हैं कि, “पीड़िता की तहरीर पर स्टूडियो संचालक श्यामू सिंह और दो अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. श्यामू सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है.” उनसे यह सवाल करने पर कि तहरीर मिलने के बाद एफ आई आर क्यों नहीं दर्ज की गई?

पीड़िता द्वारा कीटनाशक पीने के बाद एफआईआर भी दर्ज हो गई और मुख्य आरोपी भी गिरफ्तार हो गया क्यों? इस सवाल पर वह कोई जवाब नहीं दे पाए.

रायबरेली के पुलिस अधीक्षक अभिषेक कुमार अग्रवाल ने इस मामले में लालगंज पुलिस की भूमिका की भी जाँच करने की बात कही है.

उन्होंने कहा है कि, “लालगंज की रहने वाली महिला ने पुलिस पर एफआईआर दर्ज न करने का आरोप लगाते हुए जहरीला पदार्थ खाया था. मामला संज्ञान में आने के बाद केस दर्ज कराकर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. दो अन्य आरोपियों के नाम पते की जानकारी जुटाई जा रही है. पूरे प्रकरण में पुलिस की क्या भूमिका रही, इसकी भी जाँच कराई जाएगी.”

अब इस मामले में पुलिस लीपापोती कर रही है. लालगंज पुलिस अपने को बचाने के लिए एड़ी – चोटी का जोर लगाए हुए है. कल तक जो लालगंज पुलिस पीड़िता की तहरीर पर एफआईआर नहीं दर्ज कर रही थी, वही लालगंज पुलिस और उसके प्रभारी मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी कर अपनी पीठ थपथपाने में जुटे हुए हैं.

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

सुप्रीम कोर्ट ने यूपी मदरसा एक्ट रद्द करने वाले इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले पर रोक लगाई

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा बोर्ड अधिनियम, 2004 को असंवैधानिक घोषित करने के इलाहाबाद उच्च...
- Advertisement -

मदरसा बोर्ड पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला स्वागतयोग्य, हाईकोर्ट का फैसला राजनीति से प्रेरित था: यूपी अल्पसंख्यक कांग्रेस

इंडिया टुमारो लखनऊ | सुप्रीम कोर्ट द्वारा इलाहाबाद हाई कोर्ट के मदरसा शिक्षा अधिनियम 2004 को असंवैधानिक घोषित करने...

2014 के बाद से भ्रष्टाचार के मामलों में जांच का सामना कर रहे 25 विपक्षी नेता भाजपा में शामिल

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर काफी समय से ये आरोप लगते रहे हैं...

गज़ा में पिछले 24 घंटों में 54 फिलिस्तीनियों की मौत, अब तक 33,091 की मौत : स्वास्थ्य मंत्रालय

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | गज़ा में पिछले 24 घंटों में इज़रायली हमलों के दौरान कम से कम 54...

Related News

सुप्रीम कोर्ट ने यूपी मदरसा एक्ट रद्द करने वाले इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले पर रोक लगाई

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा बोर्ड अधिनियम, 2004 को असंवैधानिक घोषित करने के इलाहाबाद उच्च...

मदरसा बोर्ड पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला स्वागतयोग्य, हाईकोर्ट का फैसला राजनीति से प्रेरित था: यूपी अल्पसंख्यक कांग्रेस

इंडिया टुमारो लखनऊ | सुप्रीम कोर्ट द्वारा इलाहाबाद हाई कोर्ट के मदरसा शिक्षा अधिनियम 2004 को असंवैधानिक घोषित करने...

2014 के बाद से भ्रष्टाचार के मामलों में जांच का सामना कर रहे 25 विपक्षी नेता भाजपा में शामिल

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर काफी समय से ये आरोप लगते रहे हैं...

गज़ा में पिछले 24 घंटों में 54 फिलिस्तीनियों की मौत, अब तक 33,091 की मौत : स्वास्थ्य मंत्रालय

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | गज़ा में पिछले 24 घंटों में इज़रायली हमलों के दौरान कम से कम 54...

IIT मुंबई के 36 प्रतिशत छात्रों को नहीं मिला प्लेसमेंट, राहुल गांधी ने BJP को बताया ज़िम्मेदार

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | कांग्रेस नेता राहुल गाँधी ने एक रिपोर्ट को साझा करते हुए केंद्र सरकार और...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here