https://www.xxzza1.com
Sunday, March 3, 2024
Home अन्तर्राष्ट्रीय प्रधानमंत्री के क्रिसमस समारोह में शामिल ईसाई धर्मगुरुओं का 3200 प्रमुख ईसाईयों...

प्रधानमंत्री के क्रिसमस समारोह में शामिल ईसाई धर्मगुरुओं का 3200 प्रमुख ईसाईयों ने किया विरोध

इंडिया टुमारो

नई दिल्ली | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 25 दिसंबर को आयोजित क्रिसमस समारोह में भाग लेने वाले ईसाई समुदाय के नेताओं के खिलाफ 3,000 से अधिक ईसाइयों ने अपना विरोध दर्ज कराया है।

इस समूह ने एक बयान भी जारी किया है जिसपर हस्ताक्षर करने वालों में तृणमूल कांग्रेस सांसद डेरेक ओ ब्रायन और सेवानिवृत्त सिविल सेवक एमजी देवसहायम और जॉन शिल्सी भी शामिल हैं।

क्रिसमस पर दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में ईसाई समुदाय से जुड़े विभिन्न संप्रदायों के 100 लोगों ने भाग लिय था, जिनमें रोमन कैथोलिक चर्च के भारतीय कार्डिनल ओसवाल्ड ग्रेसियस, दिल्ली के आर्कबिशप अनिल कूटो और चर्च ऑफ नॉर्थ इंडिया के दिल्ली बिशप पॉल स्वरूप शामिल थे.

कार्यक्रम में एथलीट अंजू बॉबी जॉर्ज और अभिनेता डिनो मोरिया भी शामिल हुए।

इस कार्यक्रम में, नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार की नीतियों और ईसा मसीह के संदेश को जोड़ कर प्रस्तुत किया था. मोदी ने कहा था कि, “पवित्र पोप ने एक बार यीशु मसीह से प्रार्थना की थी कि जो लोग गरीबी को खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं, उन्हें आशीर्वाद दिया जाए।” “पवित्र पोप के ये शब्द हमारे विकास के मंत्र के अनुरूप हैं। हमारा मंत्र है ‘सबका साथ, सबका विश्वास, सबका विकास, सबका प्रयास”

हालाँकि, 3,200 ईसाइयों के एक समूह ने इस संदेश का समर्थन करने से इनकार कर दिया और एक बयान में कहा है कि, समुदाय को 2014 से जब से केंद्र में भाजपा की सरकार आई है, देश में ईसाई समुदाय पर हमले बढ़े हैं.

कार्यक्रम का विरोध करने वालों ने कहा है कि, सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी से जुड़े लोग ईसाई समुदाय पर लगातार हमलावर होते रहते हैं.

बयान में आरोप लगाया गया कि, भाजपा शासित राज्यों ने धर्मांतरण विरोधी कानून बनाए हैं जिनका इस्तेमाल किसी के धर्म की उपासना, प्रैक्टिस और प्रचार करने के मौलिक अधिकार के खिलाफ हथियार के रूप में किया जाता है।

जारी किये गए बयान में ईसाई स्कूलों पर हमला करने की घटनाओं का ज़िक्र किया गया है. बयान के मुताबिक “ईसाइयों और ईसाई स्कूलों और संस्थानों को परेशान किया गया वहीं उनके पूजा स्थलों को नष्ट कर दिया गया, उन्हें नागरिक के रूप में उनके सामान्य अधिकारों से वंचित कर दिया गया और अपमान और दानवीकरण का शिकार बनाया गया है.

बयान में यह भी कहा है कि, “…स्कूलों में ईसाई धर्म से जुड़े उत्सवों को निशाना बनाया गया है और ईसाई समुदाय से जुड़े लोगों को बिना किसी वारंट के गिरफ्तार किया गया है और बिना किसी अपराध के सलाखों के पीछे डाला गया।”

ईसाई बुद्धजीवियों द्वारा जारी बयान में यह भी कहा गया है कि 3 मई से मणिपुर में ईसाइयों पर हमले हो रहे हैं, जब मैतेई और कुकी समुदायों के बीच हिंसा भड़की थी, और आरोप लगाया गया कि यह राज्य और केंद्र में “भाजपा सरकारों से स्पष्ट अनुमोदन” के साथ यह किया जा रहा है।

बयान में यह भी कहा गया है कि, “कड़वी सच्चाई यह है कि प्रधामंत्री और उनकी सरकार ने लगातार अपने संवैधानिक जनादेश की अवहेलना की है, चाहे वह अल्पसंख्यकों, आदिवासियों, दलितों, पिछड़ी जातियों, किसानों, मजदूरों, प्रवासियों आदि से संबंधित हो।”

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

यूपी में विधायकों के क्रास वोटिंग से भाजपा 8वीं राज्यसभा सीट जीती, सपा को मिली 2 सीट

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो लखनऊ | उत्तर प्रदेश में 10 सीटों के लिए हुए राज्यसभा चुनाव में विधायकों...
- Advertisement -

पिछले तीन वर्षों में गुजरात में 25,478 लोगों ने की आत्महत्या, इनमें लगभग 500 छात्र: राज्य सरकार

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | भाजपा शासित राज्य गुजरात में तीन वर्षों में 25,000 से अधिक आत्महत्या के मामले...

सुप्रीम कोर्ट ने पतंजलि दवा के विज्ञापनों पर लगाया प्रतिबंध, बाबा रामदेव को अदालत की अवमानना का नोटिस

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को एक अंतरिम आदेश पारित कर पतंजलि आयुर्वेद की दवाओं...

राजस्थान: धर्मांतरण के आरोप में निलंबित मुस्लिम शिक्षकों की बहाली के लिए छात्रों का प्रदर्शन, SDM को दिया ज्ञापन

-रहीम ख़ान जयपुर | राजस्थान के कोटा ज़िले में धर्मांतरण के आरोप में दो मुस्लिम शिक्षकों को निलंबित कर...

Related News

यूपी में विधायकों के क्रास वोटिंग से भाजपा 8वीं राज्यसभा सीट जीती, सपा को मिली 2 सीट

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो लखनऊ | उत्तर प्रदेश में 10 सीटों के लिए हुए राज्यसभा चुनाव में विधायकों...

पिछले तीन वर्षों में गुजरात में 25,478 लोगों ने की आत्महत्या, इनमें लगभग 500 छात्र: राज्य सरकार

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | भाजपा शासित राज्य गुजरात में तीन वर्षों में 25,000 से अधिक आत्महत्या के मामले...

सुप्रीम कोर्ट ने पतंजलि दवा के विज्ञापनों पर लगाया प्रतिबंध, बाबा रामदेव को अदालत की अवमानना का नोटिस

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को एक अंतरिम आदेश पारित कर पतंजलि आयुर्वेद की दवाओं...

राजस्थान: धर्मांतरण के आरोप में निलंबित मुस्लिम शिक्षकों की बहाली के लिए छात्रों का प्रदर्शन, SDM को दिया ज्ञापन

-रहीम ख़ान जयपुर | राजस्थान के कोटा ज़िले में धर्मांतरण के आरोप में दो मुस्लिम शिक्षकों को निलंबित कर...

“फ़िलिस्तीनी आवाम फ़िलिस्तीन की भूमि पर ही जीने और मरने के लिए दृढ़ है”: फ़िलिस्तीनी राजदूत

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | भारत में फिलिस्तीन के राजदूत अदनान अबू अल-हैजा ने इज़राइल पर फिलिस्तीनियों को उनकी...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here