Friday, July 1, 2022
Home देश फव्वारे के टूटे पत्थर को शिवलिंग बता अफवाह फैलायी जा रही: अल्पसंख्यक...

फव्वारे के टूटे पत्थर को शिवलिंग बता अफवाह फैलायी जा रही: अल्पसंख्यक कांग्रेस अध्यक्ष

इंडिया टुमारो

लखनऊ | अल्पसंख्यक कांग्रेस अध्यक्ष शाहनवाज़ आलम ने बनारस की निचली अदालत द्वारा ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर सर्वे में कथित शिवलिंग मिलने के बाद उस स्थान को सील करने के आदेश को अदालत के सांप्रदायिक हिस्से और सांप्रदायिक मीडिया के गठजोड़ से देश का माहौल बिगाड़ने का षड्यंत्र बताया है।

शाहनवाज़ आलम ने आरोप लगाया कि ज़िला अदालत का सर्वे का आदेश ही पूजा स्थल अधिनियम 1991 के खिलाफ़ था। लेकिन आश्चर्यजनक तरीके से हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट ने इस तथ्य को नज़र अंदाज़ किया।

उन्होंने कहा कि दो दिनों तक कथित सर्वे के बाद कुछ भी नहीं मिलने पर तीसरे दिन सांप्रदायिक मीडिया और इस मामले में शुरू से ही गैर विधिक रवैय्या अपनाये जज के सहयोग से मस्जिद में वज़ू करने के लिए बने पुराने फव्वारे के बीच में लगे पत्थर, जो कालांतर में टूट गया था को ही टूटा हुआ शिवलिंग बताकर अफवाह फैलायी जा रही है।

उन्होंने कहा कि देश के क़रीब सभी पुरानी और बड़ी मस्जिदों में इस तरह के फव्वारे और उसके बीच में ऐसे ही पत्थर लगे हुए हैं।

शाहनवाज़ आलम ने कहा कि शिवलिंग मिलने की अफवाह फैलाने के उत्साह में सतर्कता नहीं बरतने के कारण ही हर चैनल में सर्वे के आधार पर उसकी लंबाई अलग-अलग बताई जा रही है।

शाहनवाज़ आलम ने कहा कि वर्ष 1937 में बनारस ज़िला न्यायालय में दीन मोहम्मद द्वारा दाखिल वाद में ये तय हो गया था कि कितनी जगह मस्जिद की संपत्ति है और कितनी जगह मंदिर की संपत्ति है। इस फैसले के ख़िलाफ़ दीन मोहम्मद ने हाई कोर्ट इलाहाबाद में अपील दाखिल की जो 1942 में ख़ारिज हो गयी थी। इसके बाद प्रशासन ने बेरिकेटिंग करके मस्जिद और मंदिर के क्षेत्रों को अलग-अलग विभाजित कर दिया. वर्तमान वजूखाना उसी समय से मस्जिद का हिस्सा है.

शाहनवाज़ आलम ने कहा कि सवाल उठता है कि क्या 1937 और 1942 में ये कथित शिवलिंग जिसे आज सर्वे टीम खोज निकालने का दावा कर रही है, वहां मौजूद नहीं था। और अगर तब नहीं था तो आज कैसे मिल गया?

शाहनवाज़ आलम ने कहा कि पूजा स्थल अधिनियम 1991 स्पष्ट करता है कि 15 अगस्त 1947 को पूजा स्थलों की जो स्थित, कस्टडी और चरित्र था उसमें कोई बदलाव नहीं हो सकता। इस मामले में भी 1937 और 1942 के मुकदमों में किसी शिवलिंग की मौजूदगी अदालत को नहीं दिखी थी।

उन्होंने कहा कि, ऐसे में आज सर्वे के नाम पर शिवलिंग मिलने की अफवाह फैलाकर 15 अगस्त 1947 की स्थिति को बदलने की गैर विधिक कोशिश की जा रही है। जिसमें बनारस की निचली अदालत के जज खुद शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि इतने महत्वपूर्ण और संवेदनशील मुद्दे पर विचार करते हुए जज ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के चर्चित दीन मोहम्मद बनाम सेक्रेटरी ऑफ स्टेट मुकदमे और उसके फैसले का अध्ययन नहीं किया हो ऐसा नहीं हो सकता। इसलिए उनकी निष्पक्षता पर सवाल उठना स्वाभविक है।

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद ज़ुबैर पुलिस रिमांड को चुनौती देते हुए दिल्ली हाईकोर्ट पहुंचे

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद ज़ुबैर ने गुरुवार को पुलिस रिमांड को चुनौती देते...
- Advertisement -

मुस्लिम संगठनों के प्रतिनिधि संगठन ‘राजस्थान मुस्लिम फोरम’ ने की शान्ति की अपील

स्टाफ रिपोर्टर | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के सभी मुस्लिम संगठनों के प्रतिनिधि संगठन, राजस्थान मुस्लिम फोरम की...

धार्मिक जनमोर्चा राजस्थान से जुड़े विभिन्न धर्मों के प्रतिनिधियों ने उदयपुर घटना की निन्दा की

स्टाफ रिपोर्टर | इंडिया टुमारो जयपुर | धार्मिक जन मोर्चा राजस्थान के प्रदेश समन्वयक डॉ. मुहम्मद इक़बाल सिद्दीकी ने...

राजस्थान: CM ने की सर्वदलीय बैठक, राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने की शान्ति की अपील

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान की राजधानी जयपुर में बुधवार को शाम 6 बजे उदयपुर की...

Related News

ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद ज़ुबैर पुलिस रिमांड को चुनौती देते हुए दिल्ली हाईकोर्ट पहुंचे

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद ज़ुबैर ने गुरुवार को पुलिस रिमांड को चुनौती देते...

मुस्लिम संगठनों के प्रतिनिधि संगठन ‘राजस्थान मुस्लिम फोरम’ ने की शान्ति की अपील

स्टाफ रिपोर्टर | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के सभी मुस्लिम संगठनों के प्रतिनिधि संगठन, राजस्थान मुस्लिम फोरम की...

धार्मिक जनमोर्चा राजस्थान से जुड़े विभिन्न धर्मों के प्रतिनिधियों ने उदयपुर घटना की निन्दा की

स्टाफ रिपोर्टर | इंडिया टुमारो जयपुर | धार्मिक जन मोर्चा राजस्थान के प्रदेश समन्वयक डॉ. मुहम्मद इक़बाल सिद्दीकी ने...

राजस्थान: CM ने की सर्वदलीय बैठक, राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने की शान्ति की अपील

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान की राजधानी जयपुर में बुधवार को शाम 6 बजे उदयपुर की...

राजस्थान के विभिन्न मुस्लिम धार्मिक-सामाजिक संगठनों ने की उदयपुर घटना की निंदा

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के विभिन्न मुस्लिम संगठनों ने उदयपुर में हुई युवक की बेरहमी...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here