Sunday, December 5, 2021
Home पॉलिटिक्स लखीमपुर हिंसा में मारे गए किसान दलजीत सिंह के परिवार ने कहा,...

लखीमपुर हिंसा में मारे गए किसान दलजीत सिंह के परिवार ने कहा, मुआवज़ा नहीं, इंसाफ चाहिए

मृतक किसान दलजीत सिंह के बड़े भाई जगजीत सिंह ने इंडिया टुमारो को बताया कि भाजपा नेता किसान आंदोलन को ख़त्म करने के लिए हमें डराना चाहते हैं मगर उन्हें नहीं पता कि इन मौतों से आंदोलन कमज़ोर नहीं बल्कि और भी मज़बूत होगा.

मसीहुज़्ज़मा अंसारी

लखीमपुर | लखीमपुर हिंसा में मारे गए किसान दलजीत सिंह के परिवार का कहना है कि मुआवज़ा इंसाफ नहीं है, आरोपियों की गिरफ्तारी कर उन्हें दण्डित किया जाए. परिवार ने भाजपा नेता और केंद्रीय राज्यमंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे की भी मांग की है.

मृतक किसान दलजीत सिंह के बड़े भाई जगजीत सिंह ने इंडिया टुमारो को बताया कि भाजपा नेता किसान आंदोलन को ख़त्म करने के लिए हमें डराना चाहते हैं मगर उन्हें नहीं पता कि इन मौतों से आंदोलन कमज़ोर नहीं बल्कि और भी मज़बूत होगा.

दलजीत सिंह का परिवार बहरईच के नानपारा तहसील के गांव बंजारन टांडा का रहने वाला है. उनका परिवार किसान है और खेती करता है. दलजीत भी खेती के काम में ही लगे थे. वह लखीमपुर के तिकुनिया में हुई घटना में मरने वाले किसानों में शामिल हैं.

मृतक दलजीत के दो बच्चे हैं. एक बड़ी बेटी 21 वर्षीय परनीत कौर और दूसरा 16 वर्षीय बेटा राजदीप सिंह है. बेटी लखनऊ से बीएससी नर्सिंग का कोर्स कर रही है और बेटा हाई स्कूल में पढ़ाई करता है साथ में खेती के काम में परिवार का हाथ बंटाता है.

लखीमपुर खीरी में 3 अक्तूबर को यूपी के डिप्टी सीएम के कार्यक्रम में किसान बिल को लेकर विरोध करने के लिए हज़ारों किसान जमा थे. इस प्रदर्शन में हिस्सा लेने दलजीत सिंह भी शामिल हुए थे. प्रदर्शन ख़त्म होने के बाद लौट रहे किसानों में दलजीत भी शामिल थे तभी अचानक पीछे से भाजपा मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा ने अपने सहयोगियों के साथ किसानों को कुचल डाला.

इस घटना का गवाह दलजीत का बेटा 16 वर्षीय राजदीप सिंह है जिसने अपनी आँखों के सामने अपने पिता को गाड़ी से कुचलते हुए देखा. जब एक गाड़ी ने उसके पिता दलजीत को कुचला तो वो उन्हें उठाने का प्रयास करता तब तक दूसरी गाड़ी ने भी उन्हें बुरी तरह ज़ख़्मी कर दिया जिससे उनकी मौत हो गई.

हादसे के बारे में बात करने से दलजीत का बेटे की आँख में आंसू आजाता है और वह बात करते हुए बीच ही में खामोश हो जाता है.

मृतक किसान दलजीत की पत्नी परमजीत कौर ने इंडिया टुमारो को बताया कि हम अपने बेटों के भविष्य को लेकर चिंतित हैं. बच्चों की पढ़ाई और शादी परिवार के मुखिया के बिना बहुत मुश्किल है. हम बहुत ही बड़े नुकसान से गुज़रे हैं जिसे कोई परिवार वाला ही समझ सकता है.

परिवार को मुआवज़ा मिला है मगर परिवार इंसाफ चाहता है. मृतक के भाई जगजीत सिंह ने इंडिया टुमारो से कहा कि हम इंसाफ लेकर रहेंगे. सरकार चाहे तो हमसे दूना मुआवज़ा लेले हम देने को तैयार हैं मगर मंत्री का इस्तीफ़ा और उनपर कार्रवाई से पहले हम रुकने वाले नहीं हैं.

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के संज्ञान लेने के बाद मुख्य आरोपी अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा समेत उसके अन्य साथियों की गिरफ़्तारी हुई है लेकिन किसान और पीड़ित परिवार इस कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं.

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

CAA त्रुटिपूर्ण, यह संविधान के सिद्धांतों के विरुद्ध है: न्यायामूर्ति ए.के. गांगुली (सेवानिवृत्त)

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) एके गांगुली ने कहा है कि 2019 में भाजपा सरकार द्वारा पारित...
- Advertisement -

गुरुग्राम: कट्टरपंथियों द्वारा “जय श्री राम” के नारों के बीच मुसलमानों ने अदा की जुमे की नमाज़

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | भारत की संसद से मात्र 30 किलोमीटर दूर स्थित गुरुग्राम में शुक्रवार को...

राजस्थान: मुसलमानों द्वारा शपथ पत्र देने के बाद भी अधिकारी नहीं बना रहे अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के अजमेर, भीलवाड़ा, पाली और राजसमंद समेत अन्य जिलों में चीता,...

क्या ASI कुतुब मीनार परिसर का संरक्षण कर रहा या इसकी मूल संरचना को नष्ट कर रहा?

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | दिल्ली में स्थित ऐतिहासिक स्मारक कुतुब मीनार को लेकर दक्षिणपंथी समूहों द्वारा पैदा...

Related News

CAA त्रुटिपूर्ण, यह संविधान के सिद्धांतों के विरुद्ध है: न्यायामूर्ति ए.के. गांगुली (सेवानिवृत्त)

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) एके गांगुली ने कहा है कि 2019 में भाजपा सरकार द्वारा पारित...

गुरुग्राम: कट्टरपंथियों द्वारा “जय श्री राम” के नारों के बीच मुसलमानों ने अदा की जुमे की नमाज़

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | भारत की संसद से मात्र 30 किलोमीटर दूर स्थित गुरुग्राम में शुक्रवार को...

राजस्थान: मुसलमानों द्वारा शपथ पत्र देने के बाद भी अधिकारी नहीं बना रहे अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के अजमेर, भीलवाड़ा, पाली और राजसमंद समेत अन्य जिलों में चीता,...

क्या ASI कुतुब मीनार परिसर का संरक्षण कर रहा या इसकी मूल संरचना को नष्ट कर रहा?

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | दिल्ली में स्थित ऐतिहासिक स्मारक कुतुब मीनार को लेकर दक्षिणपंथी समूहों द्वारा पैदा...

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर में एक ब्राह्मण परिवार पलायन को मजबूर

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो लखनऊ | यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर में अपराधियों की...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here