Sunday, December 5, 2021
Home पॉलिटिक्स क्या मुस्लिम नाम के कारण मीडिया ने फुरकान को नहीं दिया पहली...

क्या मुस्लिम नाम के कारण मीडिया ने फुरकान को नहीं दिया पहली फ्लाइंग कार बनाने का श्रेय?

By- Raheem Khan & Masihuzzama Ansari

नई दिल्ली | हाल ही में भारत की एक स्टार्टअप कम्पनी विनाटा एयरोमोबिलिटी ने हाइब्रिड फ्लाइंग कार तैयार की है. यह एशिया की पहली फ्लाइंग कार है जिसे बनाने वाले इंजीनियर का नाम मोहम्मद फुरकान शोएब है जो कंपनी के चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर भी हैं.

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पिछले दिनों इसके मॉडल को देखा और कंपनी की सराहना की जिसे अख़बारों ने प्रमुखता से छापा मगर इन ख़बरों से एक चीज़ जो ग़ायब था वो इस फ्लाइंग कार की आइडिया को विकसित करने वाले आविष्कारक और कंपनी में चीफ़ टेक्नोलॉजी ऑफिसर फुरकान शोएब का नाम.

यह एशिया की पहली हाइब्रिड फ्लाइंग कार होगी जिसकी स्पीड 120 किलोमीटर प्रतिघंटा बताई जा रही है. इस फ्लाइंग कार को 5 अक्टूबर को लंदन में होने वाले Helitech Expo में प्रदर्शित किया जाएगा. इस हाइब्रिड फ्लाइंग कार को इमरजेंसी और कार्गो सेवाओं के लिए भी इस्तेमाल किये जाने की बात कही जा रही है.

फ्यूचर फ्लाइट नाम की एक अमेरिकी वेबसाइट जो इमर्जिंग एविएशन टेक्नोलॉजी को अपनी ख़बरों में जगह देती है उसमें मोहम्मद फुरकान शोएब को इस आइडिया को विकसित करने वाले इंजीनियर के रूप में दर्ज किया है.

हालांकि, मीडिया में आई ख़बरों में कहीं भी मोहम्मद फुरकान शोएब के नाम को जगह नहीं दी गई है. इसका क्या कारण है यह कहना मुश्किल है.

मोहम्मद फुरकान शोएब उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं और विनाटा एयरो मोबिलिटी कंपनी में चीफ़ टेक्नोलॉजी ऑफिसर के पद पर कार्यरत हैं.

ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा 20 सितंबर को ट्विट किया गया. इस ट्वीट के बाद फ्लाइंग कार की ख़बर देश के सभी बड़े अख़बार और न्यूज़ चैनलों पर दिखाई गई लेकिन कहीं भी इसको बनाने वाले इंजीनियर के बारे में कोई जानकारी या क्रेडिट नहीं दिया गया.

ज़ी न्यूज़ के सुधीर चौधरी ने 22 सितंबर को मेक इन इंडिया के लोगो के साथ इस ख़बर को साझा करते हुए 3 मिनट में दस बार ‘भारत में बनी फ्लाइंग कार’ कहा लेकिन एक बार भी इस कार के आविष्कारक फुरकान का ज़िक्र नहीं किया.

भारतीय मीडिया ने ऐसी गलती क्यों की यह अध्यन का विषय है लेकिन जब इंडिया टुमारो ने इस बारे में जानकारी जुटाई तो पता चला कि इस फ्लाइंग कार को बनाने वाले इंजीनियर का नाम मोहम्मद फुरकान शोएब है.

ज़ी न्यूज़, आज तक, भारत तक, और दूसरे कई चैनलों ने इस कार की आइडिया और लंदन में इसे लांच किये जाने की ख़बर तो दिखाई लेकिन इस आइडिया को विकसित करने वाले इंजीनियर मोहम्मद फुरकान शोएब को कहीं भी जगह नहीं दी गई.

अमेरिकी वेबसाइट में कहा गया है कि, “कंपनी के मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी एयरोनॉटिकल इंजीनियर मोहम्मद फुरकान शोएब हैं, जिन्हें मानव रहित हवाई वाहन विकसित करने का अनुभव है और वह एक योग्य ड्रोन ऑपरेटर भी हैं.”

फुरकान शोएब ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्विट कर केंद्रीय मंत्री को उनकी आइडिया की सराहना करने के लिए धन्यवाद भी कहा है.

इस फ्लाइंग कार को तैयार करने वाली कंपनी विनाटा एयरोमोबिलिटी ने अपनी वेबसाइट पर फुरकान शोएब का परिचय साझा करते हुए लिखा है कि, “कंपनी के चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर, एक भारतीय आविष्कारक, एयरोनॉटिकल इंजीनियर और प्रमाणित यूएवी पायलट, जिनके पास एयरोस्पेस डिजाइन और यूएवी इंजीनियरिंग में विशेषज्ञता है. उनमें उन्नत विमान और यूएवी को लेकर जुनून है. उन्हें यूएवी और विमान के विभिन्न कॉन्फिगरेशन के रिसर्च और डेवलपमेंट का अनुभव है.”

कंपनी की वेबसाइट पर इंजीनियर और आविष्कारक मोहम्मद फुरकान शोएब का परिचय

कंपनी सुर्खियों में तब आई जब कंपनी की एक टीम ने हाल ही में अपनी हाइब्रिड फ्लाइंग कार का प्रोटोटाइप केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को दिखाया.

इस मुलाकात के बाद केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जानकारी देते हुए अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से ट्विट भी किया.

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि, “विनाटा एयरोमोबिलिटी की युवा टीम द्वारा जल्द ही बनने वाली एशिया की पहली हाइब्रिड फ्लाइंग कार के कॉन्सेप्ट मॉडल से परिचित होने की खुशी है. इसके शुरू होने के बाद, उड़ने वाली कारों का उपयोग लोगों और कार्गो के परिवहन के साथ-साथ चिकित्सा आपातकालीन सेवाएं प्रदान करने के लिए किया जाएगा. टीम को मेरी शुभकामनाएं.” #DroneRevolutionBegins

कौन है मोहम्मद फुरकान शोएब

फुरकान शोएब के बारे में कंपनी की वेबसाइट पर लिखा है कि वो कंपनी में चीफ़ टेक्नोलॉजी ऑफिसर है, एक भारतीय अविष्कारक है, एयरोनॉटिकल इंजीनियर हैं और साथ ही सर्टिफाइड (प्रमाणित) यूएवी पायलट भी है.

इसके अलावा वो एयरोस्पेस डिजाइन और यूएवी इंजीनियरिंग में विशेषज्ञ है. उन्हें एडवांस्ड एयर क्राफ्ट और यूएवी बनाने का जुनून है. उन्हें यूएवी और एयर क्राफ्ट के रिसर्च और डेवलपमेंट का भी अनुभव है.

कंपनी की वेबसाइट देखने पर पता चला कि मोहम्मद फुरकान ही एक मात्र एरोनॉटिकल इंजिनियर है जो कंपनी से जुड़े हुए हैं.

फुरकान ने केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के ट्वीट पर जवाब देते हुए भी लिखा है कि हमारा समर्थन करने के लिए आपका धन्यवाद और मुझे मेरे इस वंडरफुल आइडिया को साझा करने का अवसर देने के लिए विनाटा एयरोमोबिलिटी का भी धन्यवाद. मुझे उम्मीद है कि हम सुरक्षित, आर्थिक, कम उत्सर्जन वाले  हवाई परिवहन का निर्माण करेंगे.

अमेरिकन न्यूज़ पोर्टल फ्यूचर फ्लाइट में 19 अगस्त को लिखे एक आर्टिकल में भी इस फ्लाईंग कार को बनाने का क्रेडिट मोहम्मद फुरकान को ही दिया गया है.

भारतीय मीडिया मोहम्मद फुरकान को उनके इस आविष्कार का श्रेय देने में क्यों बच रहा है, कहना मुश्किल है. क्या मुस्लिम होने की वजह से तो ऐसा नहीं है?

विनाटा एयरोमोबिलिटी यह फ्लाइंग कार 5 अक्टूबर को लंदन में होने वाले Helitech Expo में लॉन्च करने वाली है.

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

CAA त्रुटिपूर्ण, यह संविधान के सिद्धांतों के विरुद्ध है: न्यायामूर्ति ए.के. गांगुली (सेवानिवृत्त)

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) एके गांगुली ने कहा है कि 2019 में भाजपा सरकार द्वारा पारित...
- Advertisement -

गुरुग्राम: कट्टरपंथियों द्वारा “जय श्री राम” के नारों के बीच मुसलमानों ने अदा की जुमे की नमाज़

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | भारत की संसद से मात्र 30 किलोमीटर दूर स्थित गुरुग्राम में शुक्रवार को...

राजस्थान: मुसलमानों द्वारा शपथ पत्र देने के बाद भी अधिकारी नहीं बना रहे अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के अजमेर, भीलवाड़ा, पाली और राजसमंद समेत अन्य जिलों में चीता,...

क्या ASI कुतुब मीनार परिसर का संरक्षण कर रहा या इसकी मूल संरचना को नष्ट कर रहा?

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | दिल्ली में स्थित ऐतिहासिक स्मारक कुतुब मीनार को लेकर दक्षिणपंथी समूहों द्वारा पैदा...

Related News

CAA त्रुटिपूर्ण, यह संविधान के सिद्धांतों के विरुद्ध है: न्यायामूर्ति ए.के. गांगुली (सेवानिवृत्त)

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) एके गांगुली ने कहा है कि 2019 में भाजपा सरकार द्वारा पारित...

गुरुग्राम: कट्टरपंथियों द्वारा “जय श्री राम” के नारों के बीच मुसलमानों ने अदा की जुमे की नमाज़

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | भारत की संसद से मात्र 30 किलोमीटर दूर स्थित गुरुग्राम में शुक्रवार को...

राजस्थान: मुसलमानों द्वारा शपथ पत्र देने के बाद भी अधिकारी नहीं बना रहे अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के अजमेर, भीलवाड़ा, पाली और राजसमंद समेत अन्य जिलों में चीता,...

क्या ASI कुतुब मीनार परिसर का संरक्षण कर रहा या इसकी मूल संरचना को नष्ट कर रहा?

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | दिल्ली में स्थित ऐतिहासिक स्मारक कुतुब मीनार को लेकर दक्षिणपंथी समूहों द्वारा पैदा...

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर में एक ब्राह्मण परिवार पलायन को मजबूर

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो लखनऊ | यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर में अपराधियों की...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here