Sunday, October 17, 2021
Home पॉलिटिक्स जमाअत इस्लामी हिन्द ने मौलाना कलीम सिद्दीकी को तुरंत रिहा किये जाने...

जमाअत इस्लामी हिन्द ने मौलाना कलीम सिद्दीकी को तुरंत रिहा किये जाने की मांग की

जमाअत इस्लामी हिन्द के अध्यक्ष ने कहा कि, "हम पुलिस को यह याद दिलाना चाहते हैं कि हमारे देश में धर्म और आस्था पर अमल करना और उसका प्रचार करना हर नागरिक का बुनियादी, मानवीय और संवैधानिक अधिकार है. इसी प्रकार, हमारे संविधान ने प्रत्येक नागरिक को स्वतंत्रता दी है कि वह जिस भी विचारधारा या आस्था को पसंद करता है उसे अपनाए. इस आज़ादी को प्रतिबंधित करने का कोई भी प्रयास एक अमानवीय और असंवैधानिक प्रयास होगा और इन असंवैधानिक प्रयासों का विरोध करना देश के सभी सम्मानित नागरिकों की ज़िम्मेदारी है."

इंडिया टुमारो

नई दिल्ली | जमाअत इस्लामी हिन्द के अध्यक्ष सैयद सआदतुल्लाह हुसैनी ने मीडिया को जारी अपने एक बयान में यह मांग की है कि मौलाना कलीम सिद्दीकी पर लगे कथित आरोपों को बिना शर्त वापस लिया जाए और उन्हें तुरंत रिहा किया जाए.

मशहूर इस्लामिक विद्वान मौलाना कलीम सिद्दीकी को बुधवार को यूपीएटीएस द्वारा अवैध धर्मांतरण के आरोप में गिरफ्तार किए जाने को लेकर देशभर के मानवाधिकार कार्यकर्ता, बुद्धजीवी, समाजसेवी और न्यायप्रिय नागरिकों ने चिंता व्यक्त की है.

सैयद सआदतुल्लाह हुसैनी ने कहा कि, “मौलाना कलीम सिद्दीकी न केवल मुसलमानों के बीच बल्कि गैर-मुस्लिम समाज में भी एक सम्मानित व्यक्ति हैं. उनकी गिरफ्तारी से आबादी के एक बड़े हिस्से में बेचैनी है. गिरफ्तारी ने एक बार फिर यूपी सरकार पर सवाल खड़े कर दिए हैं.”

इस गिरफ्तारी को यूपी में आगामी चुनावों के संदर्भ में हिंदू-मुस्लिम नफरत को बढ़ावा देने का प्रयास भी माना जा रहा है.

जमाअत इस्लामी हिन्द के अध्यक्ष ने कहा कि, “हम पुलिस को यह याद दिलाना चाहते हैं कि हमारे देश में धर्म और आस्था पर अमल करना और उसका प्रचार करना हर नागरिक का बुनियादी, मानवीय और संवैधानिक अधिकार है. इसी प्रकार, हमारे संविधान ने प्रत्येक नागरिक को स्वतंत्रता दी है कि वह जिस भी विचारधारा या आस्था को पसंद करता है उसे अपनाए. इस आज़ादी को प्रतिबंधित करने का कोई भी प्रयास एक अमानवीय और असंवैधानिक प्रयास होगा और इन असंवैधानिक प्रयासों का विरोध करना देश के सभी सम्मानित नागरिकों की ज़िम्मेदारी है.”

जमाअत प्रमुख ने कहा कि, “हम यह भी स्पष्ट करना चाहते हैं कि बल या लालच से किसी के धार्मिक विश्वास को बदलना न केवल इस्लाम की शिक्षाओं के खिलाफ है, बल्कि इसकी मूल अवधारणा के भी विरुद्ध है. इस्लाम का कोई भी जानकार ऐसा नहीं कर सकता.”

जमाअत इस्लामी हिन्द के अध्यक्ष ने कहा कि, “विभिन्न विरोधी विचारधारा के व्यक्तियों के साथ इस तरह के कार्यों के लिए पुलिस और अन्य सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग देश के भविष्य के लिए बेहद खतरनाक है.”

समाज में किए जा रहे ध्रुवीकरण के प्रयास पर चिंता जताते हुए जमाअत प्रमुख ने कहा कि, “ऐसा लगता है कि यूपी सरकार के पास अपना विकास कार्य पेश करने के लिए सकारात्मक रिकॉर्ड नहीं है. इसलिए वह लगातार सांप्रदायिक विभाजन और तनाव पैदा करने वाले क़दम उठा रही है. समाज में नफरत फैलाकर राजनीतिक सत्ता हासिल करने या उसे बनाए रखने का प्रयास पूरे राज्य ही नहीं बल्कि पूरे देश के लिए हानिकारक है.”

जमाअत इस्लामी हिन्द के मीडिया सचिव, सैयद तनवीर अहमद द्वारा जमाअत अध्यक्ष का यह बयान मीडिया को जारी किया गया.



- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

पांच सालों से JNU से लापता छात्र नजीब अहमद की माँ को अब भी है बेटे का इंतज़ार

भारत की एक माँ, फातिमा नफीस पिछले पांच सालों से JNU से लापता अपने बेटे नजीब अहमद को तलाश रही है जिसे...
- Advertisement -

बांग्लादेश: भारतीय मुसलमानों ने मंदिरों पर हमलों की निंदा की, हिंदुओं की सुरक्षा की मांग की

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | भारत के प्रमुख मुस्लिम संगठनों और धर्मगुरुओं ने पड़ोसी बांग्लादेश में दुर्गा पूजा समारोह...

फिलिस्तीन ने वेस्ट बैंक में नई इजराइली बस्ती के निर्माण की निंदा की

रामल्लाह | फिलिस्तीन ने वेस्ट बैंक शहर नब्लस के दक्षिण में एक भूमि पर एक नई इजरायली बस्ती के निर्माण की निंदा...

प्रिया रमानी, #MeToo मूवमेंट और ‘नारीवाद’ के कुछ उपेक्षित सवाल

-हुमा मसीह इसी साल फरवरी में प्रिया रमानी से जुड़े मामले पर आए कोर्ट के फैसले ने #MeToo की...

Related News

पांच सालों से JNU से लापता छात्र नजीब अहमद की माँ को अब भी है बेटे का इंतज़ार

भारत की एक माँ, फातिमा नफीस पिछले पांच सालों से JNU से लापता अपने बेटे नजीब अहमद को तलाश रही है जिसे...

बांग्लादेश: भारतीय मुसलमानों ने मंदिरों पर हमलों की निंदा की, हिंदुओं की सुरक्षा की मांग की

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | भारत के प्रमुख मुस्लिम संगठनों और धर्मगुरुओं ने पड़ोसी बांग्लादेश में दुर्गा पूजा समारोह...

फिलिस्तीन ने वेस्ट बैंक में नई इजराइली बस्ती के निर्माण की निंदा की

रामल्लाह | फिलिस्तीन ने वेस्ट बैंक शहर नब्लस के दक्षिण में एक भूमि पर एक नई इजरायली बस्ती के निर्माण की निंदा...

प्रिया रमानी, #MeToo मूवमेंट और ‘नारीवाद’ के कुछ उपेक्षित सवाल

-हुमा मसीह इसी साल फरवरी में प्रिया रमानी से जुड़े मामले पर आए कोर्ट के फैसले ने #MeToo की...

कश्मीर: जामिया मस्जिद में शुक्रवार को नमाज़ की इजाज़त नहीं दी गई, लोगों में नाराज़गी

इश्फ़ाकुल हसन | इंडिया टुमारो श्रीनगर | कश्मीर में शुक्रवार को प्रशासन द्वारा जामिया मस्जिद में नमाज़ पढ़ने आए...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here