Sunday, December 5, 2021
Home Coronavirus पाकिस्तान की चैरिटी संस्था ईधी फॉउंडेशन ने की भारत में COVID-19 संकट...

पाकिस्तान की चैरिटी संस्था ईधी फॉउंडेशन ने की भारत में COVID-19 संकट से निपटने के लिए मदद की पेशकश

इंडिया टुमारो

नई दिल्ली | पाकिस्तान की प्रमुख चैरिटी संस्था ईधी फाउंडेशन ने अपने पड़ोसी देश भारत में कोविड -19 संकट से लगातार बिगड़ रहे हालात से लड़ने के लिए भारत को मदद देने की पेशकश की है.

ईधी फाउंडेशन के मैनेजिंग ट्रस्टी फैसल ईधी ने शुक्रवार को इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा.

ईधी फाउंडेशन ने भारत में चिकित्सा, पैरामेडिकल और अन्य स्टाफ के साथ 50 एम्बुलेंस भेजने की पेशकश की है और भारतीय प्रधानमंत्री से अनुरोध किया है कि भारत ईधी फाउंडेशन के स्वयंसेवकों के लिए अपनी सीमाएं खोलें ताकि भारत को सेवा प्रदान की जा सके.

फैसल ईधी ने अपने पत्र में कहा है कि कोविड-19 की आपदा ने भारत के लोगों पर जो प्रभाव डाला था, उस पर फाउंडेशन लगातार नज़र बनाए हुए है.

फैसल ईधी ने अपने पत्र में यह भी कहा है कि हमें यह जानकर अत्यंत दुख हुआ है कि आपके देश भारत पर कोविड-19 की आपदा ने असाधारण दुष्प्रभाव डाला है और नागरिकों की एक बड़ी आबादी इससे जूझ रही है.

पाकिस्तानी समाजसेवी फैसल ईधी ने कहा कि, “एक पड़ोसी मित्र होने के नाते हम आपके साथ पूरी सहानुभूति रखते हैं और इस कठिन समय में वर्तमान स्वास्थ्य की स्थिति को देखते हुए कोविड संकट से लड़ाई में हाथ बंटाने के लिए अपनी सेवाओं के रूप में 50 एम्बुलेंस का एक दल भेजना चाहते हैं.

फैसल ईधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे अपने पत्र में कहा है कि, “हमारा संगठन स्थिति की गंभीरता को समझता है और हम आपको बिना किसी असुविधा के हमारा पूर्ण समर्थन देने की इच्छा रखते हैं, यही कारण है कि हम भारत के लोगों की सहायता करने के लिए ज़रूरी सभी आवश्यक आपूर्ति की व्यवस्था करेंगे.

उन्होंने यह भी कहा है कि, “हम आपसे हमारी टीम के लिए किसी भी प्रकार की खास व्यवस्था का अनुरोध नहीं कर रहे हैं, क्योंकि हम ईंधन, भोजन और अन्य आवश्यक सुविधाएं प्रदान कर रहे हैं, जिनकी हमारी टीम को आवश्यकता होगी. हमारी टीम में आपातकालीन मेडिकल टेकनिशियन, ऑफिस स्टॉफ, ड्राइवर और सहायक कर्मचारी शामिल हैं.”

फैसल ईधी ने कहा है कि उनकी टीम भारत की स्थानीय पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मिलकर काम करेगी और जहां कहीं भी अधिकारी कहेंगे वहां टीम को तैनात किया जाएगा.

आगे उन्होंने कहा कि, “हम बिना किसी हिचकिचाहट के आपके दिशा निर्देश के अनुसार संकटग्रस्त क्षेत्रों में अपनी टीम को तैनात करने के लिए तैयार है.”

उन्होंने कहा कि, “हमारी प्रस्तावित सेवा को लागू करने के लिए हम भारत में प्रवेश करने के लिए आपकी अनुमति के साथ-साथ स्थानीय प्रशासन और पुलिस विभाग से भी आवश्यक मार्गदर्शन का अनुरोध करते हैं.”

फैसल ने प्रधानमंत्री मोदी को लिखे अपने पत्र में आगे कहा है कि, “हम मौजूदा मानवीय संकट के प्रबंधन में आपकी सहायता करने के लिए तत्पर हैं, और उम्मीद करते हैं कि भारत के लोगों के हित के लिए जो भी हो सकेगा, वो हम करेंगे.”

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

CAA त्रुटिपूर्ण, यह संविधान के सिद्धांतों के विरुद्ध है: न्यायामूर्ति ए.के. गांगुली (सेवानिवृत्त)

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) एके गांगुली ने कहा है कि 2019 में भाजपा सरकार द्वारा पारित...
- Advertisement -

गुरुग्राम: कट्टरपंथियों द्वारा “जय श्री राम” के नारों के बीच मुसलमानों ने अदा की जुमे की नमाज़

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | भारत की संसद से मात्र 30 किलोमीटर दूर स्थित गुरुग्राम में शुक्रवार को...

राजस्थान: मुसलमानों द्वारा शपथ पत्र देने के बाद भी अधिकारी नहीं बना रहे अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के अजमेर, भीलवाड़ा, पाली और राजसमंद समेत अन्य जिलों में चीता,...

क्या ASI कुतुब मीनार परिसर का संरक्षण कर रहा या इसकी मूल संरचना को नष्ट कर रहा?

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | दिल्ली में स्थित ऐतिहासिक स्मारक कुतुब मीनार को लेकर दक्षिणपंथी समूहों द्वारा पैदा...

Related News

CAA त्रुटिपूर्ण, यह संविधान के सिद्धांतों के विरुद्ध है: न्यायामूर्ति ए.के. गांगुली (सेवानिवृत्त)

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) एके गांगुली ने कहा है कि 2019 में भाजपा सरकार द्वारा पारित...

गुरुग्राम: कट्टरपंथियों द्वारा “जय श्री राम” के नारों के बीच मुसलमानों ने अदा की जुमे की नमाज़

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | भारत की संसद से मात्र 30 किलोमीटर दूर स्थित गुरुग्राम में शुक्रवार को...

राजस्थान: मुसलमानों द्वारा शपथ पत्र देने के बाद भी अधिकारी नहीं बना रहे अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के अजमेर, भीलवाड़ा, पाली और राजसमंद समेत अन्य जिलों में चीता,...

क्या ASI कुतुब मीनार परिसर का संरक्षण कर रहा या इसकी मूल संरचना को नष्ट कर रहा?

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | दिल्ली में स्थित ऐतिहासिक स्मारक कुतुब मीनार को लेकर दक्षिणपंथी समूहों द्वारा पैदा...

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर में एक ब्राह्मण परिवार पलायन को मजबूर

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो लखनऊ | यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर में अपराधियों की...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here