Sunday, December 5, 2021
Home राजनीति स्वामी अग्निवेश की तबियत बिगड़ी, सोशल मीडिया पर उनके स्वास्थ्य के लिए...

स्वामी अग्निवेश की तबियत बिगड़ी, सोशल मीडिया पर उनके स्वास्थ्य के लिए हो रही दुआएं

इंडिया टुमारो

नई दिल्ली, 11 सितंबर | प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता और आर्य समाज के प्रमुख चेहरे के रूप में जाने जाने वाले स्वामी अग्निवेश की तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें दिल्ली के आईएलबीएस अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है. सोशल मीडिया पर लोग उनके जल्द स्वस्थ होने के लिए दुवाएँ करते हुए पोस्ट लिख रहे हैं.

स्वामी अग्निवेश को नई दिल्ली के इंस्टिट्यूट ऑफ लिवर एंड बायिलरी साइंसेज (आईएलबीएस) में भर्ती कराया गया है. वह लिवर सिरोसिस से पीड़ित हैं और मल्टी ऑर्गन फेल्योर के कारण मंगलवार से ही वेंटिलेटर पर हैं.

विभिन्न धर्मों के लोग स्वामी अग्निवेश के बीमार होने की ख़बर सुनकर सोशल मीडिया पर उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हुए लगातार पोस्ट लिख रहे हैं.

जमाअत इस्लामी हिन्द के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष इंजीनियर मोहम्मद सलीम ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से स्वामी अग्निवेश के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हुए पोस्ट साझा की है.

उन्होंने लिखा है, “आइए, हम स्वामी अग्निवेश जी के शीघ्र स्वस्थ होने और उनके अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना करते हैं.”

इसी प्रकार रांची के रहने वाले वरिष्ठ पत्रकार और समाजसेवी अशोक वर्मा ने भी फेसबुक पोस्ट के माध्यम से स्वामी अग्निवेश के शीघ्र स्वस्थ होने के लिए प्रार्थना की अपील की है.

देश के जन संघर्षों के प्रतीक स्वामी अग्निवेश लीवर की गंभीर बीमारी के कारण दिल्ली के एक अस्पताल में जीवन और मौत से जूझ…

Posted by Ashok Verma on Thursday, September 10, 2020

उन्होंने लिखा है, “देश के जन संघर्षों के प्रतीक स्वामी अग्निवेश लीवर की गंभीर बीमारी के कारण दिल्ली के एक अस्पताल में जीवन और मौत से जूझ रहे हैं. ताजा जानकारी मिली है कि स्वामी जी आज कोमा में चले गए हैं. हम स्वामी अग्निवेश की सेहत के लिए दुआ करें.”

मानवाधिकार संस्था क्विल फाउंडेशन के डायरेक्टर सुहैल के के ने फेसबुक पर लिखा है कि, “हमारे समय का वास्तविक योद्धा बीमार है, कृपया उनके शीघ्र स्वस्थ होने की दुआ करें.”

स्वामी अग्निवेश सामाजिक मुद्दों पर खुलकर अपनी राय रखने के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने 1970 में आर्य सभा नाम की राजनीतिक पार्टी बनाई थी और 1977 में वह हरियाणा विधानसभा में विधायक चुने गए और हरियाणा सरकार में शिक्षा मंत्री भी रह चुके हैं. उन्होंने 1981 में बंधुआ मुक्ति मोर्चा नाम के संगठन की स्थापना की थी.

ज्ञात हो कि जन लोकपाल विधेयक को लागू करने के लिए 2011 में इंडिया अगेंस्ट करप्शन के अभियान के दौरान वह अन्ना हजारे के प्रमुख सहयोगी थे. उन्होंने अन्ना हजारे की अगुवाई वाले भ्रष्टाचार-विरोधी आंदोलन में भी हिस्सा लिया हालांकि, बाद में मतभेदों के चलते वह इस आंदोलन से दूर हो गए थे.

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

CAA त्रुटिपूर्ण, यह संविधान के सिद्धांतों के विरुद्ध है: न्यायामूर्ति ए.के. गांगुली (सेवानिवृत्त)

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) एके गांगुली ने कहा है कि 2019 में भाजपा सरकार द्वारा पारित...
- Advertisement -

गुरुग्राम: कट्टरपंथियों द्वारा “जय श्री राम” के नारों के बीच मुसलमानों ने अदा की जुमे की नमाज़

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | भारत की संसद से मात्र 30 किलोमीटर दूर स्थित गुरुग्राम में शुक्रवार को...

राजस्थान: मुसलमानों द्वारा शपथ पत्र देने के बाद भी अधिकारी नहीं बना रहे अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के अजमेर, भीलवाड़ा, पाली और राजसमंद समेत अन्य जिलों में चीता,...

क्या ASI कुतुब मीनार परिसर का संरक्षण कर रहा या इसकी मूल संरचना को नष्ट कर रहा?

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | दिल्ली में स्थित ऐतिहासिक स्मारक कुतुब मीनार को लेकर दक्षिणपंथी समूहों द्वारा पैदा...

Related News

CAA त्रुटिपूर्ण, यह संविधान के सिद्धांतों के विरुद्ध है: न्यायामूर्ति ए.के. गांगुली (सेवानिवृत्त)

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) एके गांगुली ने कहा है कि 2019 में भाजपा सरकार द्वारा पारित...

गुरुग्राम: कट्टरपंथियों द्वारा “जय श्री राम” के नारों के बीच मुसलमानों ने अदा की जुमे की नमाज़

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | भारत की संसद से मात्र 30 किलोमीटर दूर स्थित गुरुग्राम में शुक्रवार को...

राजस्थान: मुसलमानों द्वारा शपथ पत्र देने के बाद भी अधिकारी नहीं बना रहे अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के अजमेर, भीलवाड़ा, पाली और राजसमंद समेत अन्य जिलों में चीता,...

क्या ASI कुतुब मीनार परिसर का संरक्षण कर रहा या इसकी मूल संरचना को नष्ट कर रहा?

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | दिल्ली में स्थित ऐतिहासिक स्मारक कुतुब मीनार को लेकर दक्षिणपंथी समूहों द्वारा पैदा...

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर में एक ब्राह्मण परिवार पलायन को मजबूर

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो लखनऊ | यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर में अपराधियों की...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here