Saturday, August 13, 2022
Home न्यूज़ रूम चैट स्वामी अग्निवेश ऐसे समय में गए जब देश को उनकी सबसे ज़्यादा...

स्वामी अग्निवेश ऐसे समय में गए जब देश को उनकी सबसे ज़्यादा ज़रूरत थी: जमाअत इस्लामी हिन्द

इंडिया टुमारो से बात करते हुए मोहम्मद सलीम इंजीनियर ने कहा, "स्वामी अग्निवेश का निधन एक ऐसे योद्धा का निधन है जो सत्य और न्याय के लिए निरंतर संघर्षरत था. वो ऐसे समय में हमारे बीच से गए हैं जब इस समाज को सबसे अधिक उनके संघर्ष और साहस की आवश्यकता थी."

मसीहुज़्ज़मा अंसारी | इंडिया टुमारो

नई दिल्ली, 11 सितंबर | सामाजिक कार्यकर्ता और आर्य समाज के प्रमुख चेहरे के रूप में पहचाने जाने वाले स्वामी अग्निवेश का शुक्रवार को दिल्ली के एक अस्पताल में निधन हो गया है.

मंगलवार को तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें दिल्ली के आईएलबीएस अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी.

वह लिवर सिरोसिस से पीड़ित थे और मल्टी ऑर्गन फेल्योर के कारण मंगलवार से ही वेंटिलेटर पर थे.

विभिन्न धर्मों के लोग स्वामी अग्निवेश के निधन की ख़बर सुनकर दुख व्यक्त करते हुए सोशल मीडिया पर पोस्ट साझा कर रहे हैं.

जमाअत इस्लामी हिन्द के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष इंजीनियर मोहम्मद सलीम ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से स्वामी अग्निवेश के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए पोस्ट साझा किया है.

इंडिया टुमारो से बात करते हुए मोहम्मद सलीम इंजीनियर ने कहा, “स्वामी अग्निवेश का निधन एक ऐसे योद्धा का निधन है जो सत्य और न्याय के लिए निरंतर संघर्षरत था. वो ऐसे समय में हमारे बीच से गए हैं जब इस समाज को सबसे अधिक उनके संघर्ष और साहस की आवश्यकता थी.”

उन्होंने कहा, “वह एक साहसी, निडर और बेबाक व्यक्ति थे जो मानवाधिकार व मानव गरिमा के लिए आवाज़ बुलंद करते रहे.”

जमाअत के उपाध्यक्ष ने कहा, “स्वामी अग्निवेश का निधन देश और समाज की अपूर्ण क्षति तो है ही साथ ही जमाअत की भी क्षति है. वो अपने संघर्षों और कार्यों के साथ जमाअत इस्लामी हिन्द से भी जुड़े हुए थे. देश के विभिन्न धर्माचार्यों को संवाद और सौहार्द के लिए जोड़ने का मंच धार्मिक जनमोर्चा में वह बहुत सक्रीय थे और एफडीसीए में भी उनकी महत्वपूर्ण भूमिका थी.”

जमाअत उपाध्यक्ष इंजीनियर मोहम्मद सलीम ने कहा, “स्वामी जी देश में लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा करने और नैतिक मूल्यों को बचाए रखने के प्रयास में बहुत सक्रीय थे.”

आदरणीय स्वामी अग्निवेश जी इस दुनिया को अलविदा कह गए।यह भारत के लिये और भारतीय समाज के लिये एक बहुत बड़ा सदमा है।एक…

Posted by Mohammad Salim on Friday, September 11, 2020

रिपोर्ट के अनुसार उनके पार्थिव शरीर को सुबह 11 बजे से दोपहर दो बजे तक अंतिम सार्वजनिक श्रद्धांजलि के लिए दिल्ली के जंतर-मंतर रोड स्थित कार्यालय में रखा जाएगा.

12 सितंबर की शाम हरियाणा के गुरुग्राम ज़िले में स्थित अग्निलोक आश्रम में उनका अंतिम संस्कार होगा.

स्वामी अग्निवेश सामाजिक मुद्दों पर खुलकर अपनी राय रखने के लिए जाने जाते रहे. उन्होंने 1970 में आर्य सभा नाम की राजनीतिक पार्टी बनाई थी और 1977 में वह हरियाणा विधानसभा में विधायक चुने गए थे.

वह हरियाणा सरकार में शिक्षा मंत्री भी रहे. उन्होंने 1981 में बंधुआ मुक्ति मोर्चा नाम के संगठन की स्थापना की थी.

ज्ञात हो कि जन लोकपाल विधेयक को लागू करने के लिए 2011 में इंडिया अगेंस्ट करप्शन के अभियान के दौरान वह अन्ना हजारे के प्रमुख सहयोगी थे. उन्होंने अन्ना हजारे की अगुवाई वाले भ्रष्टाचार-विरोधी आंदोलन में भी हिस्सा लिया हालांकि, बाद में मतभेदों के चलते वह इस आंदोलन से दूर हो गए थे.

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

भीमा-कोरेगांव मामला: 82 वर्षीय वरवर राव को मिली ज़मानत, 13 अन्य अभी भी सलाखों के पीछे

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | सुप्रीम कोर्ट ने पश्चिमी महाराष्ट्र के भीमा-कोरेगांव में जातिगत हिंसा की साजिश रचने...
- Advertisement -

पीएम मोदी को लिखे गए ‘ओपेन लेटर’ में मौलाना मौदूदी को क्यों बनाया गया निशाना?

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | क्या विभाजन के बाद से अब तक किसी भारतीय मुस्लिम नेता ने 2047...

नीतीश कुमार ने 8वीं बार ली बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ, तेजस्वी बने डिप्टी सीएम

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | बिहार में जनता दल-यूनाइटेड और भाजपा गठबंधन टूटने के बाद बुधवार को नीतीश कुमार...

भीमा कोरेगांव मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मेडिकल आधार पर वरवर राव को दी ज़मानत

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को भीमा कोरेगांव के मामले में आरोपी 84 वर्षीय पी...

Related News

भीमा-कोरेगांव मामला: 82 वर्षीय वरवर राव को मिली ज़मानत, 13 अन्य अभी भी सलाखों के पीछे

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | सुप्रीम कोर्ट ने पश्चिमी महाराष्ट्र के भीमा-कोरेगांव में जातिगत हिंसा की साजिश रचने...

पीएम मोदी को लिखे गए ‘ओपेन लेटर’ में मौलाना मौदूदी को क्यों बनाया गया निशाना?

सैयद ख़लीक अहमद नई दिल्ली | क्या विभाजन के बाद से अब तक किसी भारतीय मुस्लिम नेता ने 2047...

नीतीश कुमार ने 8वीं बार ली बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ, तेजस्वी बने डिप्टी सीएम

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | बिहार में जनता दल-यूनाइटेड और भाजपा गठबंधन टूटने के बाद बुधवार को नीतीश कुमार...

भीमा कोरेगांव मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मेडिकल आधार पर वरवर राव को दी ज़मानत

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को भीमा कोरेगांव के मामले में आरोपी 84 वर्षीय पी...

बिहार में भाजपा-जदयू गठबंधन टूटा, राजद से गठजोड़, महागठबंधन के साथ बनेगी नई सरकार

ख़ान इक़बाल | इंडिया टुमारो नई दिल्ली | बिहार में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और जनता दल यूनाईटेड (जदयू)...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here