Tuesday, May 18, 2021
Home इकॉनमी आज़मगढ़: गौवंश के शवों के मिलने से लोगों को साज़िश का अंदेशा,...

आज़मगढ़: गौवंश के शवों के मिलने से लोगों को साज़िश का अंदेशा, प्रशासन की अफवाहों से बचने की अपील

लखनऊ, 11 अगस्त | आज़मगढ़ में पिछले कुछ दिनों से कई स्थानों पर गौवंश के शवों के मिलने की खबरें आ रही हैं. इस प्रकार अलग-अलग स्थानों पर मिले गौवंश के शवों से लोग साज़िश का अंदेशा ज़ाहिर कर रहे हैं. हालांकि, इन खबरों को लेकर भाजपा जिला अध्यक्ष ने प्रशासन पर इस मामले में कार्रवाई करने का दबाव बनाया है.

अचानक गौवंश के शवों की बरामदगी से लोग हैरत में हैं साथ ही इसके पीछे साज़िश की बात भी कही जा रही है.

इस मामले में रिहाई मंच ने इसे पूरी तरह से साज़िश करार देते हुए उच्चस्तरीय जांच की मांग की है.

आज़मगढ़ के अख़बारों में छपी ख़बरों में भाजपा जिलाध्यक्ष ध्रुव सिंह ने गौवंश की संख्या बताकर आरोप लगाते हुए कहा है कि, “ये बूचड़खानों में सप्लाई होनी थी, सप्लाई न होने के कारण नहर में फेंक दिया गया.”

भाजपा अध्यक्ष द्वारा इस तरह गौवंश की संख्या बताने को भी लोग संदेह की दृष्टि से देख रहे हैं.

इंडिया टुमारो से बात करते हुए रिहाई मंच के महासचिव राजीव यादव ने कहा कि, “5 अगस्त 2020 को थाना मेंहनगर और 6 अगस्त को सरायमीर के शेरवां की नहर से दर्जनों गौवंशीय मवेशियों के शव मिलने की सूचना मीडिया माध्यमों से आई.”

उन्होंने कहा कि, “एक साथ अलग-अलग स्थानों पर लगभग एक जैसी संख्या में गोवंश के शव पाए जाने से साज़िश की आशंका और गहरी हो जाती है. पूर्व की कई घटनाओं को देखते हुए इस संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि गौवंश के शव कहीं से लाकर डाले गए हों.”

समाजवादी पार्टी आज़मगढ़ के अध्यक्ष हवलदार यादव इस मामले में सरकार पर निशाना साधते हुए कहते हैं कि सरकार की अनदेखी के कारण बहुत से गौवंश दुर्घटनाओं का शिकार हो रहे हैं जिसके कारण उनकी मौतें हो रही हैं.

इंडिया टुमारो से बात करते हुए सपा अध्यक्ष ने कहा कि, “किसानों ने खेतों में सब्ज़ी उगाना छोड़ दिया है क्योंकि गौवंश के खेतों में अधिक संख्या में आजाने के कारण फसल नष्ट हो जाती है. किसान परेशान हैं. गौशालाओं की बुरी स्थिति है. गौ सेवा के योगी सरकार के दावे खोखले हैं.”

उन्होंने गौशालाओं पर सरकार द्वारा ख़र्च किए जाने वाले बजट पर सवाल उठाते हुए कहा, “सरकार का ये दावा कि वो गौशालाओं को बजट आवंटित कर गौवंश की सुरक्षा कर रही है, सरासर झूठ और खोखली बातें हैं. अगर गौशालाओं पर सरकार सही से ध्यान देती तो इस प्रकार सड़कों पर दुर्घटना के कारण गौवंश के जगह-जगह शव न मिलते.”

आज़मगढ़ कांग्रेस पार्टी के शहर अध्यक्ष नजम सईद इस मामले को भाजपा की गाय के नाम पर सियासत क़रार देते हैं.

उन्होंने इंडिया टुमारो से बात करते हुए कहा, “गौवंश के शव मिलने पर शुरू में भाजपा ने बयानबाज़ी की फिर अचानक शांत हो गए. शायद उनका गौवंश के शव पर राजनीति का षणयंत्र सफल नहीं हो पाया.”

उन्होंने भी इस बात पर ज़ोर देते हुए कहा कि, “खेतों में अधिक संख्या में गौवंश फसल को नुकसान पहुंचा रहे हैं जिससे किसान परेशान हैं. हर दिन कहीं न कहीं सड़कों पर गाड़ियों से टकराकर गौवंश घायल हो रहे हैं. गौशालाओं की स्थिति भी बहुत अच्छी नहीं हैं.”

ज्ञात हो कि ऐसे कई मामले पहले भी सामने आ चुके हैं जहाँ गौ हत्या कर सांप्रदायिक माहौल ख़राब करने की कोशिश की गई है.

इस से पहले इसी प्रकार के एक मामले में बुलंदशहर में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्या हो गई थी जिसका आरोप भाजयुमो, बजरंगदल, हिन्दू युवा वाहिनी के नेताओं पर लगा था.

राजीव यादव ने बताया कि, “इससे पूर्व गोंडा में दीक्षित बंधु राम सेवक दीक्षित और मंगल दीक्षित ने साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश की थी. उन्होंने रात में गांव के गणेश प्रसाद का बछड़ा काटकर साम्प्रदायिक दंगा कराने की साजिश की थी मगर गांव के ही एक हिंदू व्यक्ति ने उनकी पुलिस में शिकायत की और दीक्षित बंधु मौके पर ही बछड़े और वध के उपकरणों के साथ गिरफ्तार हो गए.”  

उन्होंने कहा, “इसी तरह बुलंदशहर में तबलीगी इज्तेमा के अवसर पर साम्प्रदायिक साजिश के तहत गौवंशों के शवों को लेकर हिंदुत्वादी संगठन निकले थे. इस घटना की भनक पुलिस को लग गई. जब इंस्पेक्टर सुबोध सिंह ने कार्रवाई करनी चाही तो इन्हीं संगठनों के कार्यकर्ताओं ने उनकी हत्या कर दी.”

रिहाई मंच के राजीव यादव इन घटनाओं को साम्प्रदयिक हिंसा की साजिश बताते हैं. वह कहते हैं कि साम्प्रदायिक हिंसा के षणयंत्र के तहत गोवंश हत्या के मामले सामने आ रहे हैं.

उन्होंने मांग की है कि पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच करवा कर इस मामले दोषियों को कानून के दायरे में लाया जाए.

आज़मगढ़ जनपद के एसएसपी ने इस मामले में इंडिया टुमारो को कोई स्पष्ट जानकारी नहीं दी और एसपी सिटी से बात करने को कहा.

आज़मगढ़ के एसपी सिटी के पीआरओ ने इंडिया टुमारो से बात करते हुए गौवंश हत्या मामले पर कोई स्पष्ट जवाब नहीं दिया. उन्होंने कहा कि, “इस मामले में प्रशासन ने प्रेस के माध्यम से अपना बयान जारी कर शांति बनाए रखने और अफवाहों से बचने की अपील की है.”

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

उत्तर प्रदेश: चित्रकूट जेल में हुई तीन हत्याएं, योगी सरकार की कानून व्यवस्था पर उठे सवाल

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो लखनऊ । उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले में जेल के अंदर क़ैदियों की हुई...
- Advertisement -

कोविड-19 : तिरुपति में तब्लीगी जमात ने 560 शवों का किया अंतिम संस्कार

इंडिया टुमारो तिरुपति | कोरोना संक्रमण से देशभर में लगातार मौतें हो रही हैं और इसका प्रकोप हर तरफ...

अस्पतालों की अव्यवस्था पर लिखने के कारण पत्रकार नासिर की पहले गिरफ्तारी, फिर रिहा किया गया

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के टोंक शहर में एक पत्रकार नासिर खान को शनिवार को...

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय कोरोना की चपेट में, 20 दिनों में डेढ़ दर्जन से अधिक प्रोफेसर्स की मौत

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो लखनऊ । अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय कोरोना की चपेट में है। कोरोना के कारण यहां...

Related News

उत्तर प्रदेश: चित्रकूट जेल में हुई तीन हत्याएं, योगी सरकार की कानून व्यवस्था पर उठे सवाल

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो लखनऊ । उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले में जेल के अंदर क़ैदियों की हुई...

कोविड-19 : तिरुपति में तब्लीगी जमात ने 560 शवों का किया अंतिम संस्कार

इंडिया टुमारो तिरुपति | कोरोना संक्रमण से देशभर में लगातार मौतें हो रही हैं और इसका प्रकोप हर तरफ...

अस्पतालों की अव्यवस्था पर लिखने के कारण पत्रकार नासिर की पहले गिरफ्तारी, फिर रिहा किया गया

रहीम ख़ान | इंडिया टुमारो जयपुर | राजस्थान के टोंक शहर में एक पत्रकार नासिर खान को शनिवार को...

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय कोरोना की चपेट में, 20 दिनों में डेढ़ दर्जन से अधिक प्रोफेसर्स की मौत

अखिलेश त्रिपाठी | इंडिया टुमारो लखनऊ । अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय कोरोना की चपेट में है। कोरोना के कारण यहां...

धार्मिक जनमोर्चा की बैठक में धर्मगुरुओं ने कहा, आपदा में सेवा कर नफरत पर विजय प्राप्त करें

इंडिया टुमारो नई दिल्ली | कोरोना महामारी के इस संकट काल में धार्मिक जनमोर्चा के तत्वावधान में शनिवार को...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here